Breaking News


 

देवरिया में पुलिस की पिटाई से युवक की मौत: खून की उल्टी करते हुए तोड़ा दम, अखिलेश यादव ने सरकार को घेरा


देवरिया जिले के बरहज थाना क्षेत्र में एक युवक की पुलिस की पिटाई से मौत हो गई है। मृतक युवक का नाम दद्दन यादव था, जो सतरांव का निवासी था। परिजनों के अनुसार, सतरांव पुलिस चौकी प्रभारी वीरेंद्र कुशवाहा ने दद्दन को बेरहमी से पीटा, जिसके चलते उसकी हालत गंभीर हो गई और उसे खून की उल्टियाँ होने लगीं। गंभीर हालत में दद्दन को देवरिया मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया, जहां मंगलवार की रात उसकी मौत हो गई।




ग्रामीणों का आक्रोश और पुलिस चौकी का घेराव


युवक की मौत की खबर फैलते ही ग्रामीणों में आक्रोश फैल गया। सैकड़ों की संख्या में ग्रामीणों ने पुलिस चौकी को घेर लिया और विरोध प्रदर्शन किया। स्थिति को बिगड़ते देख पुलिस वाले चौकी छोड़कर भाग निकले। बाद में अतिरिक्त फोर्स और अधिकारियों की मदद से किसी तरह स्थिति को संभाला गया और ग्रामीणों को शांत किया गया।



अखिलेश यादव ने यूपी कानून व्यवस्था पर उठाये सवाल


सपा प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इस घटना को लेकर योगी सरकार पर तीखा हमला बोला है। उन्होंने एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर पोस्ट करते हुए सरकार की निंदा की और पीड़ित परिवार को 5 करोड़ रुपये का मुआवजा देने की मांग की है। अखिलेश यादव ने इस घटना को सरकार की नाकामी बताया और कानून-व्यवस्था पर सवाल उठाए।



आरोपी दारोगा के खिलाफ मुकदमा हुआ दर्ज


पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा ने बताया कि आरोपी दारोगा वीरेंद्र कुशवाहा के खिलाफ धारा 302 (हत्या) और 504 (जानबूझकर अपमान) के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। हालांकि, आरोपी दारोगा फिलहाल फरार है। पुलिस ने कहा है कि मामले की पूरी जांच की जा रही है और आरोपी को जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा।




मृतक के परिवार का आरोप


मृतक दद्दन यादव के परिजनों ने बताया कि सतरांव चौकी इंचार्ज वीरेंद्र कुशवाहा किसी बात को लेकर दद्दन से नाराज थे। सोमवार की शाम को जब दद्दन सतरांव चौराहे पर गए, तो दारोगा ने उन्हें अपने पास बुलाया। दद्दन के भागने की कोशिश करने पर पुलिस वालों ने उन्हें पकड़ लिया और चौकी इंचार्ज के पास ले जाकर जमकर पिटाई की। इस पिटाई के कारण दद्दन की हालत बिगड़ती चली गई और अंततः उनकी मौत हो गई।


स्थिति पर नियंत्रण और आगे की कार्रवाई


इस घटना के बाद पूरे क्षेत्र में तनाव का माहौल है। पुलिस बल की तैनाती बढ़ा दी गई है और स्थिति पर कड़ी नजर रखी जा रही है। पुलिस और प्रशासन इस मामले में न्याय दिलाने का आश्वासन दे रहे हैं। मृतक के परिजनों को न्याय दिलाने और दोषियों को सजा दिलाने की मांग की जा रही है।