Breaking News


 

लोकसभा चुनाव 2024: पीएम मोदी ने अरविंद केजरीवाल पर किया जोरदार हमला, कहा "अनुभवी चोर हैं दिल्ली के सीएम


नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव के छठे चरण में देश की राजधानी दिल्ली की सभी सात सीटों पर मतदान होने वाला है। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आम आदमी पार्टी (AAP) के मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर करप्शन के गंभीर आरोप लगाते हुए उन पर जोरदार हमला बोला है।


प्रधानमंत्री मोदी ने केजरीवाल को "अनुभवी चोर" करार देते हुए कहा कि उनके घर पर नोटों की गड्डियां न मिलने का कारण यह है कि वे सरकारी प्रक्रियाओं से अच्छी तरह वाकिफ हैं और पहले से ही खुद को बचाने की तैयारी कर लेते हैं। पीएम मोदी ने यह टिप्पणी इंडिया टीवी को दिए एक इंटरव्यू के दौरान की, जिसमें उनसे केजरीवाल के इस बयान पर प्रतिक्रिया मांगी गई थी कि "बाकी जगहों पर नोटों की गड्डी मिलती है, मेरे यहां एक चवन्नी नहीं मिली।"


प्रधानमंत्री मोदी ने जवाब में कहा, "ऐसा है कि वह सरकार के अफसर रह चुके हैं। उनको मालूम है कि सरकार कैसे काम करती है। वह तो खुद को बचाने के लिए घेराबंदी कर ही लेंगे। जो अनुभवी चोर होता है उसको बड़ी सुविधा होती है। जो सरकार में रहा हुआ अफसर होगा, उसको मालूम होगा कि ईडी और सीबीआई कैसे कार्रवाई करेगी। इसलिए वो बचने की व्यवस्था पहले से ही करके रख लेते हैं।"


दिल्ली शराब नीति में कथित भ्रष्टाचार के मामले में आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल फिलहाल अंतरिम जमानत पर बाहर हैं। सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें चुनाव प्रचार के लिए यह छूट दी थी। जेल से निकलने के बाद केजरीवाल लगातार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमलावर हैं। वह प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा पर उन्हें फंसाने का आरोप लगाते रहते हैं।


जब प्रधानमंत्री मोदी से पूछा गया कि चुनाव से पहले दो मुख्यमंत्रियों को जेल में डालने पर सरकार पर आरोप लग रहे हैं, तो उन्होंने कहा, "अगर उनके गुनाहों पर सरकार कुछ न करे तो लोग कहेंगे कि जरूर कुछ सांठगांठ हुई है। आपने नोटों के पहाड़ देखे कि नहीं देखे। इन नोटों के ढेर को देखकर आपको क्या लगता है, क्या यह मेहनत की कमाई के पैसे हैं? नोटों के पहाड़ पकड़े जाएं और सरकार कुछ करे नहीं तो लोग सोचेंगे कि कुछ सांठगांठ है। केवल करप्शन करने के लिए आपने दिल्ली में बच्चों का भविष्य बर्बाद करने के लिए स्कूल के पास शराब के ठेके खोल दिए।"


प्रधानमंत्री मोदी के इन बयानों से चुनावी माहौल और गर्म हो गया है। दोनों दलों के बीच आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला जारी है, जिससे दिल्ली की जनता के सामने कई सवाल खड़े हो गए हैं। आगामी चुनावों में इन बयानों का कितना असर होगा, यह देखने वाली बात होगी।